NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

अगर मैं 15 मिनट संसद में भाषण दूं तो प्रधानमंत्री सामने खड़े नहीं हो पाएंगे

१७ अप्रैल, २०१८ ४:४३ अपराह्न
9 0
अगर मैं 15 मिनट संसद में भाषण दूं तो प्रधानमंत्री सामने खड़े नहीं हो पाएंगे

नई दिल्ली. देश में एक बार फिर कैश का संकट है, एटीएम और बैंकों के बाहर फिर लंबी-लंबी कतारें दिख रही हैं. सरकार और आरबीआई अचानक आए इस संकट से सकते में है तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है.अमेठी दौरे के दौरान राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने अच्छे दिनों का वादा किया था, लेकिन देश एक बार फिर कतारों में खड़ा है.

क्या इन्हीं अच्छे दिनों की बात की जा रही थी. राहुल ने कहा कि हमें संसद में बोलने नहीं दिया जाता है, अगर मैं 15 मिनट संसद में भाषण दूं तो प्रधानमंत्री हमारे सामने खड़े नहीं हो पाएंगे.राहुल ने कहा कि अच्छे दिन सिर्फ नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के लिए आए हैं. किसानों और मजदूरों के सिर्फ बुरे ही दिन आए हैं. राहुल ने कहा कि नीरव मोदी लोगों के पैसे लेकर भाग गया, प्रधानमंत्री ने गरीबों से 500-1000 के नोट लेकर नीरव मोदी को दे दिए लेकिन उन्होंने एक शब्द भी नहीं कहा.

गौरतलब है कि देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों से एटीएम में कैश न उपलब्ध होने से फिर नोटबंदी जैसी परेशानी का माहौल बनने लगा. लोगों की बढ़ती परेशानी को देखते हुए आखिरकार रिजर्व बैंक और सरकार को आगे आना पड़ा.कैश संकट के इस मुद्दे पर वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि उन्होंने पूरी स्थिति की समीक्षा की है. देश में कैश की कमी नहीं है, सिर्फ कुछ जगहों पर अचानक मांग बढ़ जाने से ये दिक्कत सामने आई है.आपको बता दें कि अरुण जेटली से पहले वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप शुक्ला ने भी बयान दिया था. आजतक के साथ बात करते हुए उन्होंने कहा कि कैश की किल्लत दो-तीन दिन में दूर हो जाएगी और देश में नगदी की कोई कमी नहीं है.

यह भी पढ़ें: राहुल पर बरसीं स्मृति ईरानी , कहा-आप कर रहें निम्न स्तर की राजनीति

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0