NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

अब नहीं होगी नवजात बच्चों की मौत, सदर अस्पताल में जल्द बनेगा आईसीयू

१ फ़रवरी, २०१८ ५:२५ पूर्वाह्न
14 0
अब नहीं होगी नवजात बच्चों की मौत, सदर अस्पताल में जल्द बनेगा आईसीयू

Ranchi : राजधानी रांची के सदर अस्पताल में जल्द ही आईसीयू का निर्माण किया जायेगा. इस काम के लिए झारखंड ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन समिति, स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा सिविल सर्जन सह मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को पत्र लिखकर विस्तृत कार्ययोजना (डीपीआर) मांगी गयी है.

सदर अस्पताल में आईसीयू नहीं होने के कारण यहां आने वाले मरीजों को रिम्स रेफर कर दिया जाता है. ऐसे में मरीजों को समस्या के साथ जान पर भी मुसीबत बनी रहती है. आईसीयू नहीं होने के कारण गंभीर रूप से घायल मरीजों को काफी परेशानी होती है. सदर अस्पताल के नये भवन में 500 बेड की व्यवस्था की गयी है. वहीं प्रतिमाह 600 बच्चों का प्रसव अस्पताल में होता है. जबकि 250 के आसपास सिजेरियन डिलीवरी भी इस अस्पताल में होता है. कई नवजात बच्चों को तत्काल आईसीयू में डालने की जरूरत पड़ती है. लेकिनआईसीयू नहीं होने के कारण परेशानी उठानी पड़ती है और रिम्स ले जाना मजबूरी हो जाती है.

इस बाबत सिविल सर्जन डॉ एसएस हरिजन ने कहा की सदर अस्पताल में बच्चों की जांच व परीक्षण कर उन्हें भर्ती किया जाता है. इस अस्पताल में पैथोलॉजीकल टेस्ट और आउटडोर सेवाएं दी जा रही है. साथ ही आईसीयू के लिए डीपीआर बनाने के लिए विभाग से आदेश मिला है. हम लोग एक सप्ताह के अंदर डीपीआर बना कर विभाग को सौंप देंगे. आने वाले दो-तीन महीने में आईसीयू बन जायेगा. जिसका लाभ सदर अस्पताल में आने वाले मरीजों को मिलेगा.

अगस्त महीने में जमशेदपुर के महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (एमजीएम) में 52 बच्चों की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया था. इस घटना के बाद अपर स्वास्थ्य सचिव सुधीर त्रिपाठी ने टीम गठित कर 48 घंटे के अंदर विस्तृत जांच रिपोर्ट मांगी था. वहीं राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने भी इस घटना को गंभीरता से लिया था.

स्रोत: newswing.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0