NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

अभिमनोज: कर्नाटक में भाजपा से बस दो कदम आगे कांग्रेस?

१६ अप्रैल, २०१८ १२:५० अपराह्न
7 0
अभिमनोज: कर्नाटक में भाजपा से बस दो कदम आगे कांग्रेस?

नजरिया. कर्नाटक विधानसभा चुनाव में क्या होगा? इस पर जहां राजनीतिक पंडित अपने हिसाब से गणनाएं कर रहे हैं तो ज्योतिष के जानकार सितारों की समीकरण में उलझे हैं, लेकिन... ऐसे मौसम में चुनावी सर्वे को कैसे नजरअंदाज कर सकते हैं?

सर्वे के अनुसार सत्तारूढ़ कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर भले ही उभरने जा रही है, लेकिन पूर्ण बहुमत के आंकड़े से कुछ सीटें दूर रह सकती है?

इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स ओपिनियन पोल के की माने तो... त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति में जेडीएस निर्णायक भूमिका निभा सकती है?

इस चुनाव में जहां कांग्रेस की ओर से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार सक्रिय हैं तो भाजपा की ओर से भाजपा अध्यक्ष अमित शाह चुनाव प्रचार मैदान में हैं!

सर्वे के अनुसार... कांग्रेस कर्नाटक में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभर कर सामने आ रही है, लेकिन बहुमत के आंकड़े से कांग्रेसे फिर भी तकरीबन दर्जन भर सीटों से पीछे रह जाएगी, क्योंकि... सर्वे के अनुमान के मुताबिक कांग्रेस को 224 सीटों वाली विधानसभा में 90-101 सीट मिलने जा रही हैं!

लेकिन... इससे इतना तो साफ हो गया कि कांग्रेस आगे चल रही है और कितनी आगे रहती है? इसी पर कामयाबी निर्भर है!

उधर, कर्नाटक की सत्ता पर कब्जा करने को बेताब भाजपा, सर्वे के अनुसार 78 से 86 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर रहने की संभावना है? लेकिन... यह आंकड़ा कर्नाटक में निर्विघ्र सरकार बनाने के आंकड़े से तकरीबन तीस सीट कम है!

परन्तु... भाजपा के लिए तसल्ली की बात है कि यदि वह जोर लगाती है तो न केवल कांग्रेस के करीब पहुंच सकती है, बल्कि कांग्रेस से आगे भी निकल सकती है?

सर्वे में इस वक्त सबसे अच्छी स्थिति पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा के नेतृत्व वाली जेडीएस की नजर आ रही है, क्योंकि उसके पास सीटे कम सही, लेकिन... चुनावी नतीजों के त्रिशंकु तेवर में जेडीएस कर्नाटक में किंगमेकर की भूमिका में आगे आ सकती है?

वैसे, इस वक्त के सियासी समीकरणों में तो जेडीएस, कांग्रेस के करीब मानी जा रही है, लेकिन... केन्द्र में बैठी भाजपा सत्ता की जोड़तोड़ में इस वक्त सबसे ज्यादा प्रभावी है, लिहाजा... जेडीएस कांग्रेस या भाजपा को समर्थन के मामले में राजनीतिक धर्मसंकट में आ सकती है?

सर्वे का अनुमान है कि... जेडीएस कर्नाटक में 34-43 सीट हासिल कर सकती है, लिहाजा कांग्रेस और भाजपा, दोनों को ही कर्नाटक में अगली सरकार बनाने के लिए जेडीएस की मदद की जरूरत पड़ सकती है?

सर्वे के अनुसार, जब जेडीएस समर्थक मतदाताओं से पूछा गया कि त्रिशंकु विधानसभा की स्थिति में गौड़ा को किस दल के साथ जाना चाहिए? तो, उसके जवाब में सर्वाधिक 39 प्रतिशत मतदाताओं ने कहा कि जेडीएस को कांग्रेस को समर्थन देना चाहिए!

यदि, वोट शेयर देखें तो कर्नाटक में कांटे की टक्कर होने के संकेत हैं. भाजपा और कांग्रेस, दोनों मुख्य दलों के वोट शेयर में केवल दो प्रतिशत का अंतर है, मतलब... कांग्रेस भाजपा से महज दो कदम आगे है?

सर्वे के अनुसार, कांग्रेस का संभावित वोट शेयर 37 प्रतिशत है, तो भाजपा का 35 प्रतिशत है, जबकि 49 सीटों पर जीत-हार का फर्क बहुत कम रह सकता है!

बहरहाल, सर्वे के नतीजे तो कहते हैं कि कर्नाटक में इस वक्त कांग्रेस के लिए बेहतर संभावनाएं हैं, क्योंकि त्रिशंकु संभावनाओं में भी जेडीएस पर कांग्रेस के समर्थन का दबाव रहेगा!

यह भी पढ़ें: आंसू वाले बयान पर कुमारस्वामी का यू-टर्न, कहा- मैं भावुक था बेबस नहीं

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0