NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

ईरान-इराक़ में आए भूकंप से कब्रें तक टूट गईं, लाशें बाहर आ गईं

१४ नवंबर, २०१७ ९:२३ पूर्वाह्न
1 0

ईरान-इराक़ में आए भूकंप से कब्रें तक टूट गईं और उनमें से लाशें बाहर आ गईं. भूकंप में मरने वालों की संख्या 396 तक पहुंच गई है. यहां रविवार शाम को 7.3 तीव्रता का भूकंप आया था.

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे का कहना है कि इस बार भूकंप का केंद्र इराक़ी कस्बे हलाब्जा से दक्षिण-पश्चिम में 32 किलोमीटर दूर स्थित था.

खुसरो सारपोल-ए ज़हाब के पास एक गांव में रहते हैं. यह इलाका इराक़ सीमा के पास है और भूकंप से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा है.

खुसरो बताते हैं, “मेरी बहनों और ​पिता पर दीवार गिर गई. मुझे उन्हें घर से बाहर खींच कर लाना पड़ा. मेरी मां को चोटें आ गई थीं. मेरी आंटी, कज़न और उनके बच्चों की मौत हो गई.”

“पूरा गांव तबाह हो गया. कब्रें तक टूट गईं और उनमें से लाशें बाहर आ गईं. यहां पानी नहीं है. लोग नदी के पानी के इस्तेमाल कर रहे हैं. हमारे पास खाने को कुछ नहीं है. हमें पानी और गर्म कपड़ों की जरूरत है.”

उन्होंने बताया, “30 प्रतिशत तक शहर तबाह हो गया है. मेयर सोशल हाउसिंग बिल्डिंग पूरी तरह नष्ट हो चुकी है. शहर की 30 प्रतिशत इमारतें ढह गई हैं.”

उन्होंने कहा, “लोगों को खाने और पानी की जरूरत है. बचाव दल शहर में है लेकिन मुझे लगता है मरने वालों की संख्या अभी और बढ़ेगी.”

मेहरदाद के रिश्तेदार उनके घर नष्ट होने के बाद करमनशाह प्रांत में टेंट में रह रहे हैं.

उन्होंने बताया, “मैं अपने रिश्तेदारों के लिए खाना और टेंट का इंतजाम करने करमनशाह में भूकंप के केंद्र के पास स्थित गांवों में गया था.”

“सभी गांव गायब हो गए हैं. लोगों के पास पर्याप्त खाना और पानी नहीं है और उन्हें टेंट की जरूरत है.”

उन्होंने बताया, “हम भूकंप के केंद्र के नज़दीक हैं. लोग अपने घरों से बाहर रह रहे हैं.”

सलाह ने कहा, “यहां बस कुछ ही टेंट हैं और 50 से 80 प्रतिशत घर बर्बाद हो चुके हें. यहां खाना और दवाई नहीं है.”

स्रोत: legendnews.in

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0