NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर अनिश्चितता, लगातार दूसरे दिन टूटा बाजार

१७ मई, २०१८ ६:०२ पूर्वाह्न
5 0
कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर अनिश्चितता, लगातार दूसरे दिन टूटा बाजार

नई दिल्ली. कर्नाटक में सरकार बनाने को लेकर अनिश्चितता के कारण आज भी बाजार में निराशा देखने को मिली. बुधवार को सेंसेक्स 156 अंक नीचे गिरकर 35,388 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 61 अंक टूटकर 10,741 अंक पर बंद हुआ.

हालांकि अन्य एशियाई बाजारों में भी कमजोर ट्रेंड देखने को मिला. वहीं अमेरिका से उत्तरी कोरिया की वार्ता बंद करने की धमकी के बाद रातो रात वाल स्ट्रीट में हलचल देखने को मिली.

बुधवार की सुबह सेंसेक्स 92 अंक की गिरावट के साथ 35,452 अंक पर और निफ्टी 50 अंक गिरकर 10,752 के स्तर पर खुला. बाजार खुलते ही गिरावट बढ़ी और सेंसेक्स 281.46 अंक टूट गया. वहीं निफ्टी 10700 के नीचे फिसल गया.

मंगलवार को कर्नाटक चुनाव परिणाम आने के बाद से ही इसका असर देखने को मिला जहां सेंसेक्स 447 अंक टूटकर 35544 के स्तर पर बंद हुआ था. वहीं, निफ्टी भी टूटकर 10802 के स्तर पर बंद हुआ था.

बुधवार को सेंसेक्स के 30 में से 12 शेयरों में तेजी रही. हिन्दुस्तान यूनीलीवर (3.84 फीसदी), आईटीसी (1.47 फीसदी), विप्रो (1.44 फीसदी), यस बैंक (1.11 फीसदी) और एशियन पेंट्स (0.82 फीसदी) में सर्वाधिक तेजी रही.

सेंसेक्स के गिरावट वाले शेयरों में प्रमुख रहे -आईसीआईसीआई बैंक (3.28 फीसदी), रिलायंस (2.34 फीसदी), स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (2.19 फीसदी), हीरो मोटोकॉर्प (2.10 फीसदी) और अडानी पोर्ट्स (1.25 फीसदी).

बीएसई के मिडकैप सूचकांक में गिरावट और स्मॉलकैप सूचकांक में तेजी रही. मिडकैप सूचकांक 43.71 अंकों की गिरावट के साथ 16,024.86 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 10.56 अंकों की तेजी के साथ 17,536.01 पर बंद हुए.

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी सुबह 49.9 अंकों की गिरावट के साथ 10,751.95 पर खुला और 60.75 अंकों या 0.56 फीसदी की गिरावट के साथ 10,741.10 पर बंद हुआ. दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,790.45 के ऊपरी और 10,699.70 के निचले स्तर को छुआ.

बीएसई के 19 में से पांच सेक्टरों में तेजी रही, जिनमें रियल्टी (1.99 फीसदी), तेज खपत उपभोक्ता वस्तु (1.65 फीसदी), सूचना प्रौद्योगिकी (0.18 फीसदी), प्रौद्योगिकी (0.11 फीसदी) और उपभोक्ता गैर अनिवार्य वस्तु एवं सेवाएं (0.05 फीसदी) शामिल रहे.

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे - ऊर्जा (1.75 फीसदी), तेल और गैस (1.58 फीसदी), बैंकिंग (1.17 फीसदी), वित्त (0.91 फीसदी) और उपभोक्ता सेवाएं (0.70 फीसदी).

बीएसई में कारोबार का रुझान नकारात्मक रहा. कुल 1,016 शेयरों में तेजी और 1,606 में गिरावट रही, जबकि 135 शेयरों के भाव में कोई बदलाव नहीं हुआ.

यह भी पढ़ें: डॉलर के मुकाबले रुपया 69.91 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0