NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

कैश की किल्लत पर बोले जेटली, नकदी की कमी नहीं, समाधान जल्द

१७ अप्रैल, २०१८ ८:३६ पूर्वाह्न
3 0
कैश की किल्लत पर बोले जेटली, नकदी की कमी नहीं, समाधान जल्द

नयी दिल्ली. बैंकों के एटीएम में नकदी नहीं रहने से लोग परेशान हैं और 2016 के नवंबर-दिसंबर महीने की नोटबंदी के बाद इसे दूसरी नोटबंदी का नाम दे रहे हैं. इस तरह की स्थिति पिछले एक पखवाड़े से बनी हुई है, लेकिन पिछले दो दिनों में समस्या और गहरी हो गयी है. यह समस्या तब और गहरी हो गयी जब इसका हल ढूंढने के लिए वित्त मंत्रालय ने रिजर्व बैंक, बैंकों व राज्यों के साथ बैठक की. लोग नकदी नहीं रहने से काफी परेशान हैं और वे अपने जरूरी काम भी नहीं कर पा रहे हैं. रांची के रहने वाले राजेश के पास मकान का किराया देने के लिए नकदी नहीं थी और देर होने के कारण अंतत: उसे उधार का सहारा लेना पड़ा.

इसी तरह एक शादी समारोह में जाने की तैयारी कर रही प्रिया के पास जाने का रेल टिकट तो हैं लेकिन पैसे नहीं हैं. इस वजह से वह ठीक से खरीदारी भी नहीं कर पायी. वहीं, पटना में रह रहे अमित के एटीएम में उसके बड़े भाई ने पैसे ट्रांसफर तो कर दिये हैं, लेकिन उसे कोचिंग वालों को पैसे का भुगतान करने में दिक्कतें आ रही हैं.

नकदी की इस किल्लत को देखते हुए केंद्र सरकार हरकत में आ गयी है. वित्त राज्य मंत्री एसपी शुक्ला ने कहा है अभी हमारे पास 1, 25, 000 करोड़ रुपये की नकदी है. परेशानी है कि कुछ राज्यों में नकदी कम है और कुछ राज्यों में अधिक. उन्होंने कहा कि सरकार ने इसे संतुलित करने के लिए राज्यवार कमेटी बनायी है और आरबीआइ ने भी इन नकदी को एक राज्य से दूसरे राज्य में ट्रांसफर करने के लिए कमेटी का गठन किया है. सरकार की ओर से कहा गया है दो-तीन दिन में स्थिति सामान्य हो जाएगी.

कैश की किल्लत की समस्या के मीडिया में तूल पकड़ने के बाद वित्तमंत्री अरुण जेटली ने इस मामले में ट्वीट कर स्थिति को साफ करने का प्रयास किया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि देश में नकदी की स्थिति की समस्या की है. कुल मिलाकर देश में जरूरत के अधिक नकदी है और यह बैंकों के पास भी उपलब्ध है. उन्होंने मौजूदा संकट को अचानक व असामान्य वृद्धि बताया. उन्होंने कहा कि कुछ क्षेत्रों में इस समस्या से त्वरित रूप में निबटा जा रहा है.

यह भी पढ़ें: एसबीआई अध्यक्ष बोले नकदी की समस्या के लिए लोग जिम्मेदार

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0