NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

गुलाम नबी ने कहा-जो कोई भी बीजेपी को हराना चाहता है वह हमारे साथ आए

१३ जनवरी, २०१९ १२:३२ अपराह्न
2 0
गुलाम नबी ने कहा-जो कोई भी बीजेपी को हराना चाहता है वह हमारे साथ आए

नई दिल्ली. सपा सुप्रीम मायावती और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के गठबंधन ऐलान के 24 घंटे बाद कांग्रेस ने भी यूपी में लोकसभा चुनावों को लेकर अपनी रणनीति साफ कर दी है. राज्यसभा में नेता विपक्ष और प्रदेश कांग्रेस प्रभारी गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि वह यूपी की सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि वह चाहते थे कि यूपी में गठबंधन हो और यह गठबंधन कांग्रेस ने नहीं तोड़ा है. कांग्रेस नेता ने कहा कि जो कोई भी बीजेपी को हराना चाहता है वह हमारे साथ आए.

अब कोई हमें साथ लेकर नहीं चलना चाहता है तो ये उसका फैसला है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस यूपी में राहुल गांधी के नेतृत्व में अपनी विचार धारा का पालन करते हुए लोकसभा चुनाव में डटकर लड़ेगी और बीजेपी को हराएगी. साथ ही यह भी घोषणा की कि यूपी में कांग्रेस सभी 80 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ेगी. उन्होंने आगे कहा कि लोकसभा चुनाव की लड़ाई बीजेपी और कांग्रेस के बीच में है और हम उन दलों को मदद लेंगे जो इस लड़ाई में हमारा साथ देंगे.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हर आदमी का अपना विचार होता है और मैं किसी का विचार नहीं बदल सकता हूं. यह बात हमारे संविधान में भी है कि हर आदमी को विचार रखने की छूट है. उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी का इतिहास रहा है और अगर किसी की पार्टी का है तो वह भी बताएं. वह बताएं कि वर्ष 85 से उनकी पार्टी कहां थी और उनका क्या योगदान है.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हमारी पार्टी तीन-चार सालों से कह रही है बीजेपी को हराने के लिए जो दल हमारे साथ आना चाहता है उसका स्वागत है. उन्होंने कहा कि कोई पार्टी गठबंधन में आना चाहती है तो उसका स्वागत है. एलान के बाद पार्टियां खुद से आती है और ये बातें मीडिया से नहीं होती है.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि रायबरेली औँर अमेठी में सपा-बसपा वैसे भी उम्मीदवार नहीं उतारती है. उन्होंने कहा कि अभी तो यह भी नहीं पता है कि मायावती और अखिलेश यादव लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे या नहीं.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पहले बीजेपी चुनाव हार जाए फिर दखेंगे. उन्होंने कहा कि अगर कोई चेहरा प्रधानमंत्री के समकक्ष होगा तो फिर देखेंगे.

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि हम कई साल कह रहे हैं और ईवीएम में शिकायतें मिल रही है. हम शिकायत लेकर चुनाव आयोग के पास भी गए. हमारी तो मांग है कि 30 प्रतिशत चुनाव बैलेट पेपर से होने चाहिए.

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0