NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

प्रदीप द्विवेदी: लेकिन, बयानों की बदबू का क्या करें?

११ फ़रवरी, २०१८ ४:१२ अपराह्न
2 0
प्रदीप द्विवेदी: लेकिन, बयानों की बदबू का क्या करें?

खबरंदाजी. देश में बेतुके बयानों की बदबू बढ़ती ही जा रही है, ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि.... क्या ऐसा कोई स्वच्छता अभियान भी चलेगा जो बेतुके बयानों की गंदगी को साफ कर दे?

खबर है कि... गोवा के शहरी और देश नियोजन मंत्री विजय सरदेसाई की एक टिप्पणी से हरियाणा का मिजाज गर्मा गया है, नतीजा? एक तरफ जहां हरियाणा सरकार ने गोवा के सीएम को पत्र लिखकर नाराजगी जताने करने का निर्णय किया है, वहीं विपक्ष ने इसे मुद्दा बनाकर सरदेसाई के त्यागपत्र के लिए भाजपा पर दबाव बनाया है!

मामला यों है कि... सरदेसाई ने गोवा बिज फेस्ट के दौरान उत्तर भारत के पर्यटकों पर गंदगी फैलाकर गोवा को हरियाणा बनाने का बेतुका बयान दिया था, जाहिर है... गोवा के मंत्री निशाने पर आने ही थे, इसलिए विपक्ष ने इसे मुद्दा बनाकर गोवा के मंत्री सरदेसाई के इस्तीफे के लिए भाजपा पर दबाव बना दिया!

खबरों की मानें तो... सरदेसाई ने गोवा बिज फेस्ट में उत्तरी भारत के पर्यटकों को भारी बाढ़ जैसा बताते हुए कहा था कि गंदगी फैलाकर गोवा को हरियाणा बनाने की कोशिश की जा रही है, उन्होंने कहा कि हम गोवा को दूसरा गुरुग्राम नहीं बनने देना चाहते!

गोवा फॉर्वड पार्टी के अध्यक्ष सरदेसाई का कहना था कि... दिल्ली, हरियाणा और गुरुग्राम से आने वालों की प्रवृति सब कुछ हड़पने की है, जबकि गोवा में रहने का उनका तरीका अलग है... हरियाणा के लोग गोवा आते ही प्लॉट खरीदकर बिल्डिंग बनाना शुरू कर देते हैं... नॉर्थ इंडियन यहां के माहौल के लिए समस्या पैदा कर रहे हैं, जिसका बुरा असर यहां की साफ-सुथरी व्यवस्था पर पड़ रहा है... हम ऐसा कानून लाएंगे जिससे गंदगी फैलाने वालों को हर्जाना भरना पड़ेगा, तभी इस समस्या से निजात मिलेगी!

इधर, गोवा के मंत्री ने अपने विवादास्पद विचार व्यक्त किए और उधर, हरियाणा सरकार के पर्यटन मंत्री रामबिलास शर्मा ने भी तत्काल कहा कि... वे गोवा के सीएम मनोहर पर्रिकर को अधिकृत पत्र लिख इस बयान पर आपत्ति दर्ज करवाएंगे? उनके अनुसार... स्वच्छता के मामले में हरियाणा देश के अग्रणीय राज्यों में शुमार है और पूरा प्रदेश ओडीएफ... खुले में शौच मुक्त हो चुका है!

भाजपा की ही दो सरकारों के बीच इस बेमौसम बयानों की बारिश से गैरभाजपाइयों को नया मुद्दा हाथ लग गया? कांग्रेस के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा कि... गोवा की भाजपा सरकार के मंत्री ने मानसिक संतुलन खो दिया है... दिनदहाड़े हरियाणा और सभी उत्तर भारतीयों का घोर अपमान किया गया, उन्होंने कहा कि... खट्टर साहब या तो गोवा के भाजपा मंत्री से इस्तीफा लें, वरना मान लें कि आप हरियाणा के हितों की रक्षा करने में असमर्थ हैं!

इधर, आईएनएलडी के प्रदेश अध्यक्ष अशोक अरोड़ा का कहना है कि... भाजपा की सोच सामने आ गई है, उन्होंने आरोप लगाया कि... प्रदेश के विकास को लेकर किए जा रहे इनके दावे हवा-हवाई हैं! तो उधर, आम आदमी पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष नवीन जयहिंद ने इस मुद्दे पर सरकार से अपना स्टैंड साफ करने की मांग की?

दरअसल, खुशबू-बदबू... स्वच्छता-गंदगी... अच्छा-बुरा... सही-गलत... रीतियों-कुरितियों को लेकर भी दुनिया एकमत नहीं है... हर व्यक्ति... हर जगह... हर देश के हिसाब से इनके अर्थ-भावार्थ बदल जाते हैं?

कइयों को शराब से खुशबू आती है तो कइयों को दारू की बदबू परेशान करती है... कइयों को मछली बाजार भी साफ-सुथरा लगता है तो कइयों का इससे जी घबराने लगता है... कइयों के लिए सुंदर-सुव्यवस्थित कपड़े सभ्यता है तो कइयों के लिए कम कपड़े फैशन!

लेकिन... इन विरोधाभासी विचारों का किसी वर्ग, जाति, धर्म, जगह, देश, विदेश से कोई लेनादेना नहीं है, इसलिए... इनसे जोड़कर दिए गए बेतुके बयान, बेमिसाल बेवकूफी से ज्यादा कुछ नहीं है?

यह भी पढ़ें: प्रदीप द्विवेदी: सीटों की समीकरण में उलझा सवाल, कौन बनेगा प्रधानमंत्री?

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0