NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

फोर्टिस हेल्थकेयर के मालिकों के बीच बढ़ी रंजिश,मारपीट तक पहुंचा मामला

७ दिसंबर, २०१८ १:२४ अपराह्न
1 0
फोर्टिस हेल्थकेयर के मालिकों के बीच बढ़ी रंजिश,मारपीट तक पहुंचा मामला

नई दिल्ली. कभी फोर्टिस को नई ऊंचाई पर ले जाने वाले सिंह बंधु मलविंदर और शिविंदर सिंह आज एक-दूसरे को फूटी आंख नहीं सुहाते हैं और दोनो भाइयों मलविंदर मोहन सिंह (45) और शिविंदर मोहन सिंह (43) के बीच चर रहा झगड़ा हाथापाई तक पहुंच गया है. कंपनी के पूर्व सीएमडी मलविंदर सिंह ने आरोप लगाया है कि उनके छोटे भाई शिविंदर सिंह ने उन पर हमला किया है. वहीं, छोटे भाई शिविंदर ने उल्टा आरोप लगाते हुए कहा कि मलविंदर ने उनसे मारपीट की.

मलविंदर ने वॉट्सऐप पर तस्वीर और वीडियो पोस्ट कर कहा कि 5 दिसंबर की शाम करीब 6 बजे दिल्ली के 55, हनुमान रोड पर शिविंदर ने उनसे मारपीट की, उन्हें चोट पहुंचाई और धमकी भी दी. उन्होंने कहा कि शिविंदर तबतक मुझसे उलझे रहे, जबतक लोगों ने उन्हें मुझसे अलग नहीं किया.' मलविंदर ने कहा कि वह जख्मों के इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल गए. उन्होंने कहा कि अस्पताल जाने के बाद वह शिकायत दर्ज कराने थाने भी गए, लेकिन मां एवं चाचा समेत परिवार के अन्य वरिष्ठ सदस्यों के आग्रह पर उन्होंने इसे वापस ले लिया.

मलविंदर ने सूत्रों को बताया कि पूरा मामला उस वक्त शुरू हुआ, जब शिविंदर ने ग्रुप की एक कंपनी प्रायस रियल एस्टेट के बोर्ड की बैठक को बाधित करना शुरू किया. उन्होंने दावा किया कि इस कंपनी को उन्होंने लगभग 2 हजार करोड़ रुपये की उधारी दी है, जिसे गुरिंदर सिंह ढिल्लन और उनके परिवार के लोग चलाते हैं.

आपको बता दें कि शिविंदर और मलविंदर सिंह ने 1996 में फोर्टिस हेल्थकेयर की शुरुआत की थी. 2001 में मोहाली में इसने पहला अस्पताल शुरू किया. इसके बाद तेजी से विस्तार किया. फिलहाल 10,000 बेड की क्षमता और 314 डायग्नोस्टिक सेंटर्स के साथ फोर्टिस 45 शहरों में अपनी सुविधाएं दे रहा है. दुबई, मॉरिशस और श्रीलंका में भी इसका नेटवर्क है.

यह भी पढ़ें: BSNL शुरू करने जा रही 4G सेवा, मप्र समेत 10 राज्यों से होगी शुरुआत

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0