NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

बेबस पिता लगा रहा गुहार, सहयोग कीजिये रघुवर सरकार

२ फ़रवरी, २०१८ ६:१४ पूर्वाह्न
11 0
बेबस पिता लगा रहा गुहार, सहयोग कीजिये रघुवर सरकार

Ranchi : कुदरत का कहर एक ऐसे बेबस पिता पर त्रासदी बनकर बरपा है. जिसके पास इतना पैसा भी नहीं की वो इससे उबर सके. खादगढ़ा बस स्टैंड पर जूता मरम्मति और पॉलीश से जो कुछ आमदनी होती है, वो तो घर के खर्च और दवाइयों में ही लग जाता है. आखिर अपने बच्चे का इलाज कैसे कराये. कांटाटोली रविदास मोहल्ला के रहने वाले विकास राम का ये दर्द उस समय और बढ़ जाता है जब "नितिन" की हड्डियों में असहनीय दर्द होता है. नितिन चार साल का एक मासूम बच्चा है, जिसे गंभीर बीमारी बोन मैरो कैंसर ने अपनी चपेट में ले रखा है.

नितिन की मां टिंकी देवी ने कहा कि बच्चे की हड्डियों में हर समय दर्द रहता था साथ ही उसे बुखार भी रहता था. जिसके बाद उन्होंने जुलाई 2017 में रानी चिल्ड्रेन हॉस्पिटल के डॉ शैलेश चंद्र से उसका इलाज कराया. उन्होंने वेल्लोर जाने की सलाह दी, लेकिन गरीबी आड़े आ रही थी. इसलिए इन्होंने 27 नवंबर 2017 को रिम्स के पीडियाट्रिक्स विभाग में डॉ एके चौधरी से इलाज कराया. रिम्स में नितिन 11 दिन भर्ती था. जहां शरीर के कई अंगों की जांच की गयी. जिसके बाद पता चला कि नितिन बोन मैरो कैंसर से ग्रसित है. रिम्स के डॉक्टर ने कोलकाता टाटा मेडिकल सेंटर ले जाने की सलाह दी. दस दिसंबर को नितिन के पिता कोलकाता स्थित टीएमसी पहुंचे. वहां इलाज शुरू करने से पहले 70 हजार रुपये जमा करने की बात कही गयी. पैसे की तंगी के कारण मायूस माता-पिता अपने बच्चे को रांची वापस लेकर लौट आये.

डॉक्टरों ने कहा है कि नितिन का इलाज तीन साल तक चलेगा. इस दौरान बच्चे का कीमोथेरपी भी करना पड़ेगा. हर एक सप्ताह के इलाज का खर्च लगभग आठ हजार रुपये लगेगा. लेकिन पिता के पास इतने पैसे नहीं है कि वह अपने बच्चे का इलाज करवा पायें. इन्होंने सरकार और आमजनों से मदद की गुहार लगायी है.

नितिन के पिता विकास राम का स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) कांटाटोली ब्रांच एकाउंट नंबर 37486089595 है. जिसका आईएफएससी (IFSC) SBIN0012622 है.

स्रोत: newswing.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0