NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

मोदी सरकार के कार्यकाल में विकास दर 25 सालों में सबसे अधिक: अरुण जेटली

१५ जनवरी, २०१९ २:४८ अपराह्न
159 0

नई दिल्ली. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को दावा किया कि मोदी सरकार के कार्यकाल में पिछले 25 सालों में भारत ने सबसे ज्यादा विकास किया है और इस दौरान मंहगाई न्यूनतम रही है. जेटली ने उदारीकरण होने के सालों से लेकर मौजूदा वित्त वर्ष की 5 सालों के औसत को ग्राफ के जरिये दिखाया, जिसमें वित्त वर्ष 2014-15 से 2018-19 तक जीडीपी दर 7.3 फीसदी और महंगाई दर 4.6 फीसदी दिखाया है.

अरुण जेटली ने मंगलवार को अपने फेसबुक पेज पर एक ब्लॉग पोस्ट डालते हुए लिखा कि आजादी के बाद भारत के आर्थिक अध्ययन को 1991 के कट-ऑफ लाइन के साथ दो भागों में बांटा जा सकता है. नियंत्रित अर्थव्यवस्था ने 40 सालों के लिए भारत के विकास को रोककर रखा.

उन्होंने लिखा कि 1951-52 से 1990-91 तक भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) 4.2 फीसदी वार्षिक दर से बढ़ा. प्रति व्यक्ति आय प्रति वर्ष 2 फीसदी की दर से बढ़ी. अर्थव्यवस्था के उदारीकरण से न सिर्फ जीडीपी दर बढ़ा बल्कि लाखों लोग गरीबी से बाहर आए और बड़ी संख्या में भारतीयों के जीवन स्तर में सुधार आया.

इससे पहले हाल ही में विश्व बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 में भारत की आर्थिक विकास दर 7.5 फीसदी रहने का अनुमान लगाया था और कहा था कि भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की सबसे तेजी से विकास करने वाली अर्थव्यवस्था के रूप में अपने दर्जे को बरकरार रखेगी. बता दें कि विश्व बैंक की रिपोर्ट पिछले साल अक्टूबर में अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) द्वारा जारी अनुमान 7.4 फीसदी से थोड़ा अधिक है.

विश्व बैंक द्वारा 8 जनवरी को जारी वैश्विक आर्थिक अनुमान (जीईपी) रिपोर्ट में भारत के लिए पिछले साल जून में किए गए अनुमानों को बरकरार रखा गया. विश्व बैंक ने हालांकि चेतावनी दी कि दक्षिण एशिया में आगामी चुनावों को लेकर राजनीतिक अस्थिरता बढ़ जाएगी.

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0