NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

वार्ड नंबर एक के चंदवे बस्ती में सड़क-बिजली ठप, स्थानीय लोगों ने कहा

१४ मार्च, २०१८ ४:३६ पूर्वाह्न
61 0

Ranchi : वार्ड नंबर एक के चंदवे बस्ती का हाल बेहाल है. यहां बिजली और सड़क मुख्य मुद्दा है. मुस्लिम और आदिवासी बहुल्य इस इलाके में स्थानीय लोगों का कहना है कि कई वर्षों से इस जगह का विकास नहीं हुआ है. पार्षद सिर्फ चुनाव में वोट मांगने के लिये आते हैं. इस बार निगम चुनाव में इन्हीं मुद्दों को देखते हुए वोट डालेंगे.

रांची का वीआईपी इलाका कहे जाने वाले कांके रोड से सटी इस चंदवे बस्ती की मुख्य सड़कों पर जगह-जगह बड़े पत्थर निकले हुये हैं. नाली का पानी रोड़ पर बहता है. बिजली के नाम पर बांस के पोल गड़े हुये हैं, जिसके तार सड़क के बिचों बीच लटकी हुयी है. लोगों का कहना है कि पार्षद से कई बार इन समास्यों को लेकर शिकायत की गयी लेकिन समास्या का हल नहीं हुआ.

वार्ड नंबर एक के रहने वाले दानिश का कहना है कि इस मुहल्ले में सड़क की हालत कई सालों से जर्जर है. कुछ जगह पीसीसी सड़क बनी थी, लेकिन अधिकर जगहों पर कच्ची सड़क है. बरसात में पूरी सड़क किचड़ में बदल में जाती है. नालियों का पानी जाम हो जाता है. वहीं, जुंगेश सिंह ने कहा कि हमलोग आज भी सड़क, बिजली जैसी समास्या से जुझ रहे हैं. लालू मुंडा कहते हैं कि जो पीसीसी की सड़क बनी थी, उसे भी तोड़ दिया गया है.

चंदवे बस्ती में रहने वाली मैमून खातून ने कहा कि पार्षद हमलोगों के क्षेत्र में नहीं आती है. पांच सालों में इस इलाके में कुछ भी नहीं हुआ, सिर्फ यहां की उपेक्षा की गयी है. रंजीत मुंडा कहते हैं कि इस बार नगर निगम चुनाव में वोट डालेंगे, लेकिन सोच-समझकर.

वार्ड संख्या एक कि वार्ड पार्षद सुनीता तिर्की ने कहा कि चंदवे के सरना स्थल के पास की सड़क जमीन विवाद के कारण नहीं बनाया जा सका है. उन्होंने कहा कि विकास कार्य के लिए निगम की ओर से ज्यादा फंड नहीं दिया जाता है. जिस वजह से वार्ड के सभी हिस्सों में सही ढंग से काम नहीं हो पाया है. पार्षद सुनीता तिर्की ने कहा कि अपने वार्ड में एक करोड़ और एक करोड़ 64 लाख की लागत से दो सामुदायिक भवन का निर्माण कराया है. वहीं बांस के बिजली पोल के विषय में कहा कि नगर निगम बोर्ड की बैठक में भी इस मुद्दे को कई बार उठाया गया है लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया.

स्रोत: newswing.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0