NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

विहिप:मक्का मस्जिद फैसले से कांग्रेस की कलाई खुल गई है

१६ अप्रैल, २०१८ ८:१३ अपराह्न
11 0

नई दिल्ली. मक्का मस्जिद विस्फोट मामले में विशेष एनआईए अदालत के निर्णय पर संतोष व्यक्त करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्याध्यक्ष आलोक कुमार ने आरोप लगाया कि इस निर्णय से मुस्लिम तुष्टीकरण की आड़ में हिन्दू धर्म को अपमानित करने की तत्कालीन कांग्रेस सरकार की नीतियों की कलई खुल गई है.

विहिप कार्याध्यक्ष ने कहा कि इस निर्णय से मुस्लिम तुष्टीकरण की आड़ में हिन्दू धर्म को अपमानित करने तथा जांच एजेंसियों को राजनीतिक मोहरा बनाने की तत्कालीन सरकार की घृणित नीति की भी कलई खुल गई है.आलोक कुमार ने दावा किया कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार भगवा आतंकवाद का शगूफा रच कर निर्दोष हिन्दुओं को फंसाने के षडयंत्र की आड़ में विस्फोट करने वाले वास्तविक अपराधियों को बचा ले गई. उन्होंने कहा कि असली अपराधियों के छूटने पर सर्वाधिक प्रसन्न पाकिस्तान हुआ था.

मक्का मस्जिद विस्फोट का मामला पिछले 11 सालों से कोर्ट में चल रहा था. मामले के दो मुख्य आरोपी संदीप वी डांगे और रामचंद्र कलसंगरा को पुलिस इतने सालों में भी पकड़ने में कामयाब नहीं हो सकी. एक प्रमुख अभियुक्त और आरएसएस के कार्यवाहक सुनील जोशी को जांच के दौरान ही गोली मार दी गई थी. वहीं गवाह बनने वाले 160 लोगों में से 54 चश्मदीद अपनी गवाही से मुकर गए थे. स्वामी असीमानंद को इस साल मार्च में अजमेर ब्लास्ट केस में बरी कर दिया गया था. मालेगांव और समझौता धमाके में भी उन्हें जमानत दी जा चुकी है.

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0