NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

सीधी बात में फिर बरसे सीएम, बोकारो जिला के अफसरों को लगाई फटकार, मनरेगा में लूट पर पाकुड़ के कई अधिकारियों पर कार्रवाई का आदेश (देखें वीडियो)

३० जनवरी, २०१८ ८:३१ पूर्वाह्न
48 0
सीधी बात में फिर बरसे सीएम, बोकारो जिला के अफसरों को लगाई फटकार, मनरेगा में लूट पर पाकुड़ के कई अधिकारियों पर कार्रवाई का आदेश (देखें वीडियो)

Ranchi : झारखंड के मुख्‍यमंत्री रघुवर दास के सीधी बात कार्यक्रम में सबसे ज्‍यादा दुष्कर्म से जुड़े मामले आये. एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म और उस पर प्रशासनिक शिथिलता के कारण सीएम रघुवर दास ने बोकारो जिला के अफसरों को फटकार लगायी. साथ ही मुख्‍यमंत्री ने पाकुड़ में हो मनरेगा योजना में लूट मामले में शामिल दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करके जेल भेजने का आदेश दिया.

सीएम के सीधी बात कार्यक्रम में 7 मार्च 2017 को बोकारो में घटित एक सामूहिक दुष्कर्म का मामला आया, जो शौच के लिए खेत जा रही महिला के साथ हुआ था. इस पर एफआईआर और कार्रवाई में देरी पर मुख्‍यमंत्री रघुवर ने बोकारो जिला प्रशासन समेत पुलिस के आला अधिकारियों को फटकार लगायी. सीएम ने जांच में देरी होने पर वहां के डीएसपी पर सवाल खड़ा किया. उन्‍होंने कहा कि अभी तक सबके घर शौचालय क्‍यों नहीं बना. सीएम ने बोकारो को ओडीएफ फ्री जिला घोषित किये जाने पर भी सवाल खड़ा किया. बोकारो जिला प्रशासन के अधिकारी ने सीएम को बताया कि यह धनबाद में पहले रिपोर्ट हुआ था जिसकी जानकारी हमें देर से मिली. सीएम ने बोकारो डीएसपी को शो कॉज करने का आदेश दिया. साथ ही उन्‍होंने सभी डीएसपी को सभी थानों में मूवमेंट बढ़ाने का निर्देश जारी करने का आदेश दिया. उन्‍होंने इस बात पर नाराजगी जतायी कि बार-बार निर्देश के बावजूद अधिकारी उसका पालन नहीं कर रहे. सीएम ने कहा कि किसी महिला या बच्‍ची के साथ दुष्कर्म जैसी घटना घटित होना और उस पर प्रशानिक कार्रवाई में लापरवाही बहुत ही शर्म की बात है. मौके पर सीएम ने गृह विभाग को लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ एक्‍शन लेने का आदेश दिया.

सीएम के सीधी बात में एक धनबाद के सुदामडीह थाना क्षेत्र में दिव्‍यांग बच्‍ची के साथ दुष्कर्म का मामला भी आया, जो 2014 घटित हुई थी. इस मामले में नामजद आरोपियों को दोषी भी पाया गया, इसके बावजूद दोषियों की गिरफ्तारी नहीं हुई. धनबाद एसपी ने सीएम को बताया कि दोषी को गिरफ्तारी हो गई है और 10 साल की सजा और जुर्माना भी सुनाया गया है.

सीएम के सीधी बात कार्यक्रम में साहिबगंज राधानगर थाना क्षेत्र में नौ साल की बच्‍ची के साथ नौ जुलाई 2017 को हुई दुष्‍कर्म का मामला भी आया. शिकायत में कहा गया कि मामले पर थाना द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई. इस मामले पर जब साहिबगंज एसपी जवाब देने लगे तो सीएम रघुवर दास भड़क गये और बोले कि इतिहास मत बताओ इस मामले पर अब तक क्या कार्रवाई की गयी वो बतायें. थानेदार ने कार्रवाई क्‍यों नहीं किया यह बतायें. पुलिस की कुर्की जब्‍ती की कार्रवाई पर सीएम ने कहा कि कार्रवाई के पहले आपने आरोपी को सूचना दे दी थी, ऐसी कार्रवाई का क्‍या मतलब. उन्‍होंने कहा कि वहां के थानेदार को तुरंत हटायें. सक्षम लोगों को ही थानेदार बनायें. इस मौके पर सीएम ने बच्‍ची की पढ़ाई के लिए 50 हजार रुपये का सहयोग देने की घोषणा की.

सीधी बात में हजारीबाग के झारपो पंचायत में सुखाड़ राहत कोष में राहत का लाभ किसानों को उपलब्‍ध कराने में लापरवाही का मामला भी आया. शिकायत में कहा गया कि मुखिया द्वारा सिर्फ अपने रिश्‍तेदारों और करीबी दोस्‍तों के आवेदन को ही स्‍वीकृति के लिए भेजा गया. अन्‍य ग्रामीणों को इसके लाभ से वंचित रखा गया. सीएम ने इस पूरे मामले की जांच कराने का आदेश दिया और कहा कि जिसका जो हक है उसे मिलना चाहिये. आवंटन की कमी है तो उसे भी पूरी की जायेगी.

सीएम की सीधी बात में पाकुड़ के 2014 का मामला आया. इसके शिकायतकर्ता अमित कुमार ने सीएम को मनरेगा में हुई गड़बड़ी की जानकारी दी और बताया कि यहां बिना काम के पैसे की निकासी कर ली गई. साथ ही साथ लिट्टीपड़ा क्षेत्र में 251 योजनाओं में करोड़ों की हेराफेरी की गई. सीएम ने इस पूरे मामले में दोषी पाये गये सभी अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दिया. सीएम रघुवर दास ने कहा किसी दोषियों के साथ कोई नरमी नहीं बरती जाये. उन्‍होंने चिंता व्‍यक्‍त की कि पूरे संथाल परगना में नीचे तबके के अधिकारी बिचौलियों के साथ मिलकर लूट रहे हैं. सीएम ने घपले में शामिल सभी अधिकारियों को सस्‍पेंड करने का आदेश दिया. उन्‍होंने कहा कि जब तक नीचे के अधिकारी जेल नहीं जायेंगे संथाल परगना लूटता रहेगा.

स्रोत: newswing.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0