NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

साहब आप तो कागजों पर वो हादसा देख रहे हैं, मैंने अपनी नंगी आंखों से नक्सलियों का वो तांडव देखा हैः पीसी देवगम

१३ फ़रवरी, २०१८ ११:४४ पूर्वाह्न
11 0
साहब आप तो कागजों पर वो हादसा देख रहे हैं, मैंने अपनी नंगी आंखों से नक्सलियों का वो तांडव देखा हैः पीसी देवगम

वह अपनी ड्यूटी करते रहे और पुलिस की सार्थकता साबित करते रहे

उस थाना इलाके में सेवा देने के लिए पी सी देवगम को पदस्थापित कर दिया जाता था.

लोगों की हत्या कर दी थी. इसके बाद मौके पर पहुंच कर उन्होंने कई लोगों की जान बचायी. साथ ही बाद में इस कांड का अनुसंधान करते हुए मामले में छह अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा दिलवायी.

में नवादा जिले में पदस्थापित कर दिया गया. कैडर बंटवारा में झारखंड आये पी सी देवगम को रांची मुरहू थाना में पदस्थापित किया गया. वहां उसने कुंदन पाहन के साथ मुठभेड़ किया. रांची में पांच साल काम करने के बाद उन्हें लोहरदगा भेज दिया गया. लोहरदगा में सेन्हा थाना क्षेत्र में पीएलएफआई के साथ मुठभेड़ में तीन को मार गिराया.

जिससे नकुल यादव को भागना पड़ा. कई कांडों में अपनी उपलब्धियां दर्ज करा चुके पी सी देवगम को बहुत पहले ही गैलेंट्री मिल जाना चाहिए था. लेकिन तकनीकी कारणों को बताकर उन्हें इससे वंचित रखा गया. आज उनेके साथ नीचे ओहदे पर काम करकने वाले लोग अपनी वर्दी में गैलेंट्री का तमगा चमका रहे हैं. जबकि एक दिलेर अफसर विभाग की अनदेखी से हैरान और परेशान होकर रह गया है.

स्रोत: newswing.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0