NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

Child Trafficking: मदर टेरेसा को दिया गया भारत रत्न वापस लेने की मांग

१३ जुलाई, २०१८ ११:११ पूर्वाह्न
8 0

नई दिल्ली। मदर टेरेसा द्वारा शुरु किए गए मिशनरीज ऑफ चैरिटी में Child Trafficking मामले के खुलासे के बाद विवाद हो गया है। इस विवाद के चलते आरएसएस के एक नेता ने तो मिशनरीज ऑफ चैरिटी के Child Trafficking के इस मामले में दोषी पाए जाने पर मदर टेरेसा से भारत रत्न की उपाधि वापस लेने की मांग कर डाली है। अब भाजपा नेता सुब्रमण्यन स्वामी ने भी आरएसएस नेता का समर्थन किया है। इंडिया टुडे से बातचीत के दौरान सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा कि “वह 100 प्रतिशत आरएसएस नेता की बात का समर्थन करते हैं।”

अपनी बात के समर्थन में सुब्रमण्यन स्वामी ने तर्क देते हुए कहा कि “ब्रिटिश लेखक क्रिस्टोफर हर्चेन्स ने अपनी किताब “द मिशनरीज पोजिशनः मदर टेरेसा इन थ्योरी एंड प्रैक्टिकल” में मदर टेरेसा द्वारा किए गए सारे फ्रॉड को डॉक्युमेंटिड किया है।”

स्वामी के अनुसार उस अपराधी को बाद में अदालत ने 150 साल की सजा सुनायी थी और उस पर लाखों लोगों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप था। स्वामी ने कहा कि ऐसे व्यक्ति को छोड़ने के लिए मदर टेरेसा ने जज को चिट्ठी लिखी थी। स्वामी ने कहा कि यह सब कुछ रिकॉर्ड में है।”

स्वामी के अनुसार मदर टेरेसा के खिलाफ अपराध के कई उदाहरण हैं, फिर उन्हें हमारे समाज में नोबेल व्यक्ति के तौर पर क्यों सेलिब्रेट किया जाता है?

स्रोत: legendnews.in

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0