जितेंद्र तोमर की गिरफ्तारी से उठे ये 5 सवाल

९ जून, २०१५ ११:३५ पूर्वाह्न

7 0

जितेंद्र तोमर की गिरफ्तारी से उठे ये 5 सवाल

1. मंत्री की गिरफ्तारी से पहले विधानसभा से इजाजत क्यों नहीं? जितेंद्र तोमर की गिरफ्तारी पर सबसे बड़ा सवाल यही उठा है कि आखिर पुलिस इतनी जल्दी में क्यों थी. मंत्री की गिरफ्तारी करने से पहले विधानसभा से अनुमति लेनी होती है और विधानसभा स्पीकर के आदेश के बाद ही गिरफ्तारी हो सकती है. तोमर की गिरफ्तारी में इस नियम का पालन नहीं किया गया.

2. दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, लेकिन कमिश्नर नावाकिफ? दिल्ली पुलिस कमिश्नर बीएस बस्सी का यह बयान भी पचने वाला नहीं है कि राज्य के कानून मंत्री की गिरफ्तारी करने पुलिस उनकी जानकारी के बगैर ही चली गई.

3. मंत्री के विशेषाधिकार का पालन क्यों नहीं किया गया? देश का संविधान संवैधानिक पदों पर बैठे व्यक्तियों को कुछ विशेषाधिकार देता है. उस लिहाज से जितेंद्र तोमर को अपना पक्ष रखने का पर्याप्त वक्त मिलना चाहिए था.

देश का संविधान संवैधानिक पदों पर बैठे व्यक्तियों को कुछ विशेषाधिकार देता है. उस लिहाज से जितेंद्र तोमर को अपना पक्ष रखने का पर्याप्त वक्त मिलना चाहिए था.

4. गिरफ्तारी से पहले नोटिस क्यों नहीं? पुलिस पर यह सवाल उठाया जा रहा है कि उसने गिरफ्तारी से पहले तोमर को नोटिस क्यों नहीं दिया. बिना नोटिस कानून मंत्री की गिरफ्तारी पर सवाल उठ रहे हैं.

5. किसकी इजाजत पर हुई गिरफ्तारी? जितेंद्र तोमर की गिरफ्तारी के बाद यह सवाल सबसे प्रमुखता से पूछा जा रहा है कि आखिर यह गिरफ्तारी किसके कहने पर हुई है. क्योंकि गृह मंत्रालय कह चुका है कि उसका इससे कोई लेना-देना नहीं है और दिल्ली पुलिस कमिश्नर की माने तो उनको तो मामले की जानकारी ही नहीं है.

अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें. आप दिल्ली आजतक को भी फॉलो कर सकते हैं.

For latest news and analysis in English, follow IndiaToday.in on Facebook.

स्रोत: aajtak.intoday.in

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...