झीलों का शहर उदयपुर

२१ जून, २०१५ ३:०३ अपराह्न

42 0

झीलों का शहर उदयपुर

झीलों की नगरी कहे जाने वाले उदयपुर को विदेशी सैलानियों में भारत के सबसे लोकप्रिय शहरों में से एक कहा जा सकता है. छोटा सा खूबसूरत शहर अपने इतिहास के लिए बहुत प्रसिद्ध है, खास तौर पर महाराणा प्रताप से जुड़े इतिहास के लिए. हालांकि राणा प्रताप को अपने जीवन में राजसी सुख कम ही मिला लेकिन उदयपुर घूमने आने वाले सैलानियों के लिए अब राजसी विलास जमकर है.

उदयपुर शहर में तीन बड़ी झीलें हैं - पिछौला झील, फतेह सागर और स्वरूप सागर. इसके अलावा दूध तलाई है. ये सारी झीलें आपस में जुड़ी हैं. रुकने की इन जगहों के अलावा उदयपुर में कई रेस्तरां झीलों के किनारे हैं. वहां के माहौल में पारंपरिक खाने का अनुभव भी राजसी है.

जग मंदिर रानियों की सैरगाह रहा है. आज यह हाई क्लास इवेंट्स का केंद्र है. इन राजसी ठाठ-बाट का असर यह है कि शहर की कई पुरानी हवेलियां भी हेरीटेज होटलों में तब्दील हो चुकी हैं. इसलिए जो लग्जरी होटलों में नहीं रुक सकते, वे इन होटलों में रुक सकते हैं.

दुनिया की कई सबसे खूबसूरत व लग्जरी होटलें उदयपुर में हैं. इनमें पिछोला झील में स्थित लेक पैलेस होटल, इसी झील के दूसरे किनारे स्थित नई बनी उदय विलास होटल और राजपरिवार के निजी निवास में बनी शिव निवास पैलेस होटल शामिल है. दरअसल उदयपुर शहर के आसपास राजे-रजवाड़ों की सैकड़ों साल पुरानी कई संपत्तियां अब होटलों में तब्दील हो चुकी हैं. उनकी बनावट, मेहमानवाजी, साज-सज्जा, खान-पान, ये सब कुछ एक राजसी अनुभव देते हैं. उदयपुर शहर की खूबसूरती को देखने के अलावा सैलानी इस राजसी अनुभव को लेने भी आते हैं. यही वजह है कि दुनियाभर के सेलेब्रिटी अपनी शादियों व अन्य निजी आयोजनों के लिए उदयपुर आते हैं. देवीगढ़ ने इसकी शुरुआत की. पिछौला झील में ही जग मंदिर में रवीना टंडन की शादी हम सबको याद होगी.

उदयपुर दिल्ली से मुंबई जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग 8 पर स्थित है. दिल्ली से इसकी दूरी लगभग साढ़े सात सौ किलोमीटर है. दिल्ली, जोधपुर, जयपुर, अहमदाबाद व मुंबई से उदयपुर के लिए सीधी ट्रेनें हैं. साथ ही दिल्ली, मुंबई समेत कई शहरों से उदयपुर के डबोक हवाई अड्डे के लिए रोजाना सीधी उड़ानें भी हैं.

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...