'टी-20' फॉर्मूले पर काम करेगी बीजेपी, तैयार की गई चाक चौबंद रणनीति

१६ सितंबर, २०१८ १०:५३ पूर्वाह्न

3 0

'टी-20' फॉर्मूले पर काम करेगी बीजेपी, तैयार की गई चाक चौबंद रणनीति

नई दिल्ली. अगले साल लोकसभा चुनाव में उतरने से पहले भारतीय जनता पार्टी चाक चौबंद रणनीति पर काम कर रही है. बीजेपी के ऊपर 2014 जैसे नतीजों को दोहराने का दबाव है. इसके लिए पार्टी ने फैसला किया है कि वह इसके लिए 'टी-20' फॉर्मूला आजमायेगी. इसका मतलब है, एक कार्यकर्ता 20 घरों में जाकर चाय पिएगा और मोदी सरकार की उपलब्धियों की जानकारी उन घरों के सदस्यों को देगा. टी-20 के अलावा भाजपा ने 'हर बूथ दस यूथ', नमो एप सम्पर्क पहल एवं बूथ टोलियों के माध्यम से मोदी सरकार की उपलब्धियों को घर घर पहुंचने का कार्यक्रम तैयार किया है.

बीजेपी ने अपने सांसदों, विधायकों, स्थानीय एवं बूथ स्तर के कार्यकतार्ओं से अपने अपने क्षेत्रों में जनता को सरकारी योजनाओं की जानकारी पहुंचाने को कहा है. भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने मीडिया को बताया कि पार्टी कार्यकतार्ओं से कहा गया है कि वे अपने क्षेत्र के प्रत्येक गांव में जाएं और कम से कम 20 घरों में जाकर चाय पिएं. इस 'टी-20' पहल का मतलब जनता से सीधे संवाद स्थापित करना है. उल्लेखनीय है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी ने आक्रामक प्रचार शैली अपनाई थी. इसमें खास तौर पर सूचना तकनीक माध्यम का उपयोग किया गया था. इसका खास आकर्षण 3डी रैलियों का आयोजन था.

इन 3डी रैलियों में एक ही समय में कई स्थानों पर बैठे लोगों के साथ एक साथ जुडऩे की पहल की गई थी. सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को जोडऩे और चाय पे चर्चा की पहल भी की गई थी. अगले लोकसभा चुनाव के लिये भाजपा अपने उस अभियान को और व्यापक स्तर पर ले जाना चाहती है. भाजपा ने बूथ स्तर के लिये एक विस्तृत रणनीति बनाई है जिसमें पाटीज़् कार्यकतार्ओं से कहा गया है कि वे नरेन्द्र मोदी एप से अधिकाधिक लोगों को जोड़ें.

पार्टी सूत्रों ने बताया कि अगले सप्ताह नरेन्द्र मोदी एप का नया प्रारूप आने वाला है जिसमें पहली बार कार्यकतार्ओं के कायोज़्ं के संबंध में भी एक खंड होगा. उन्होंने बताया कि कार्यकर्ता क्या करने वाले हैं, उसका एक खंड एप में होगा . इसमें बताया जायेगा कि लोगों को कैसे जोडऩा है. एप में कुछ साहित्य, छोटे छोटे वीडियो और ग्राफिक्स के रूप में सूचनाएं भी होंगी. पार्टी ने प्रत्येक मतदान केंद्र पर 100 लोगों को नरेन्द्र मोदी एप से जोडऩे का लक्ष्य निर्धारित किया है.

यह भी पढ़ें: मायावती बोली-सम्मानजनक सीटें न मिलीं तो बसपा अकेले लड़ेगी चुनाव

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...