दिल्ली हाई कोर्ट ने कंडोम की मूल्य सीमा तय करने के आदेश को खारिज किया

१० जुलाई, २०१५ १:१३ अपराह्न

1 0

दिल्ली हाई कोर्ट ने कंडोम की मूल्य सीमा तय करने के आदेश को खारिज किया

चीफ जस्टिस जी रोहिणी और जस्टिस राजीव सहाय एंडला की पीठ ने राष्ट्रीय फार्मास्युटिकल मूल्य निर्धारण प्राधिकरण (एनपीपीए) के नवंबर, 2013 और 10 जुलाई, 2014 के आदेशों को खारिज कर दिया . इन आदेशों के जरिए ही कंडोम की मूल्य सीमा तय की गई थी. कोर्ट ने कहा कि एनपीपीए के आदेश गैर-कानूनी हैं और टिकाकऊ नहीं हैं. ऐसे में दोनों आदेशों को रद्द किया जाता है.

हालांकि, सरकार का कहना था कि चूंकि कंडोम बीमारियों से बचाते हैं इसलिए ये दवाओं के वर्गीकरण के तहत आते हैं. ऐसे में इनका मूल्य नियंत्रित रहना चाहिए. सरकार का यह भी कहना था कि यदि लक्जरी कंडोम को डीपीसीओ के दायरे से हटा दिया जाएगा तो विनिर्माता बाजार को कंडोम की महंगी किस्मों से पाट देंगे और सस्ते कंडोम बाजार में उपलब्ध नहीं होंगे.

अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें. आप दिल्ली आजतक को भी फॉलो कर सकते हैं.

For latest news and analysis in English, follow IndiaToday.in on Facebook.

यह भी पढ़ें: दुर्गा विसर्जन पर ममता सरकार को हाईकोर्ट की फटकारः दो समुदायों के बीच क्यों पैदा कर रहे दरार

स्रोत: aajtak.intoday.in

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...