दूसरे शहर जाने पर मोबाइल नंबर बदलने की जरूरत खत्म, राष्ट्रव्यापी एमएनपी शुरू

३ जुलाई, २०१५ ४:१८ पूर्वाह्न

20 0

देश की प्रमुख दूरसंचार कंपनियां तीन जुलाई से पूर्ण मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) शुरू कर रही हैं.

अब ग्राहकों को दूसरे सर्किल में स्थानांतरित होने पर भी अपना पुराना मोबाइल नंबर बनाए रखने की सुविधा होगी.

ग्राहक उसी नंबर पर अपनी पसंदीदा की किसी कंपनी की सेवाएं ले सकेंगे. लगभग सभी आपरेटर कल से पूर्ण मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी को लागू करने को तैयार हैं.

एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया, रिलायंस कम्युनिकेशन और सार्वजनिक क्षेत्र की बीएसएनएल और एमटीएनएल सहित सभी आपरेटरों ने घोषणा की कि वे तीन जुलाई से पूर्ण एमएनपी को लागू करेंगे. राष्ट्रीय एमएनपी सेवा के लिए पहले समय सीमा तीन मई रखी गई थी. चूंकि आपरेटर तैयार नहीं थे इसलिए समय सीमा दो माह के लिए बढ़ा दी गई थी.

निजी क्षेत्र के अन्य आपरेटरों में यूनिनॉर, सिस्तेमा श्याम टेलीसर्विसेज व वीडियोकॉन ने भी कहा है कि वे सरकार द्वारा इसके लिए तय समयसीमा तीन जुलाई को इस सेवा को शुरू करेंगे.

अभी एमएनपी की सुविधा एक सर्किल के अंदर ही है जिसमें नयी कंपनी की सेवा लेते समय पुरानी कंपनी के नंबर को बरकार रखा जा सकता है.

देशव्यापी एमएनपी सेवा से ग्राहक एक सर्किल से दूसरे सर्किल में जाते समय अपना मौजूदा नंबर ही रख सकेंगे और अपनी पसंद की कंपनी की सेवाएं ले सकेंगे.

एयरटेल ने एक बयान में अपने ग्राहकों को एयरटेल के नेटवर्क पर 24 घंटे के भीतर नंबर पोर्ट तथा पोर्ट संबंधी आवेदन की प्रक्रि या पूरी होने तक नि:शुल्क रोमिंग कॉल जैसी सुविधा देने की घोषणा की है.

आइडिया सेल्यूलर ने कहा है कि उसने अपने नेटवर्क को देश भर में एमएनपी सेवाओं के लिए तैयार कर दिया है और उसके ग्राहक तथा नये ग्राहक इस सुविधा का इस्तेमाल कर सकते हैं.

रिलायंस कम्युनिकेशंस ने कहा है कि वह तीन जुलाई से देशव्यापी एमएनपी शुरू करने के लिए तैयार है. कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी अपने प्रीपेड व पोस्टपेड ग्राहकों के लिए आकषर्क व आ्रकामक योजनाओं की पेशकश करेगी.

इसी तरह सार्वजनिक क्षेत्र की बीएसएनएल व एमटीएनएल ने इस सेवा की शुरआत की पुष्टि की है.

एमटीएस ब्रांड नाम से मोबाइल सेवा देने वाली सिस्तेमा श्याम ने सरकार के फैसले का स्वागत किया है और कहा है कि वह कंपनी इस समयसीमा (तीन जुलाई) का पालन करने को पूरी तरह तैयार है.

यूनिनॉर के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी ने एमएनपी के सुचारू कार्यान्वयन के लिए अपने आईटी व नेटवर्क ढांचे को उन्नत किया है.

वहीं वीडियोकॉन टेलीकाम के सीईओ अरविंद बाली ने कहा- हमारा मानना है कि एक सर्किल से दूसरे सर्किल के बीच नंबर पोर्टेबिलिटी अधिक जरूरत आधारित सेवा है.

यह भी पढ़ें: IDEA-वोडाफोन मिलकर बनेंगी देश की सबसे बड़ी मोबाइल दूरसंचार सेवा कंपनी !

स्रोत: samaylive.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...