नीतीश ने राम गोपाल यादव के बयान को तवज्जो नहीं दी, कहा-विलय हो चुका

२२ मई, २०१५ ८:४५ पूर्वाह्न

15 0

नीतीश ने राम गोपाल यादव के बयान को तवज्जो नहीं दी, कहा-विलय हो चुका

पटना . समाजवादी पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के बयान के बाद जनता परिवार के विलय के भविष्य को लेकर उठे सवाल के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोआज कहा कि विलय का फैसला किया जा चुका है और इससे पीछे हटने का सवाल ही पैदा नहीं होता.

एकीकृत जनता पार्टी के भविष्य को लेकर छाई अनिश्चितता की धुंध को दूर करने के प्रयास के तौर पर कुमार ने संवाददाताओं से कहा, ‘जनता परिवार में छह पार्टियों के विलय के संबंध में निर्णय पहले ही हो चुका है और इससे वापस हटने का सवाल ही पैदा नहीं होता.

एकीकरण की प्रक्रिया में उल्लेखनीय भूमिका निभाने वाले कुमार ने समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता राम गोपाल यादव के कल के इस बयान को ज्यादा तरजीह नहीं दी कि बिहार विधानसभा चुनाव से पहले जनता परिवार का विलय संभव नहीं है और इस मौके पर ऐसा कोई भी कदम अपनी पार्टी के मौत के परवाने पर दस्तख्त करने के बराबर होगा.

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम के बाद कुमार ने कहा, ‘लोकतंत्र में सबको बोलने का हक है, लेकिन हकीकत यह है कि अब जनता परिवार के विलय में कोई बाधा नहीं है.’ उन्होंने कहा कि प्रक्रिया की औपचारिकताएं पूरी होने के बाद चीजें सही रास्ते पर हैं और जल्दी की एक अनुकूल परिणाम सबके सामने होगा.

कुमार ने अपनी बात के समर्थन में रहीम का एक दोहा उद्धृत किया, ‘धीरे धीरे रे मना, धीरे सब कुछ होए, माली सींचे सौ घड़ा, रितु आए फल होए.’ इस सवाल से बचते हुए कि एक झंडे और एक चिन्ह के साथ विलय की अंतिम तस्वीर इस वर्ष बाद में बिहार विधानसभा चुनाव से पहले स्पष्ट होगी, कुमार ने फिर यही दोहा दोहराया और इस बात पर जोर दिया कि सब कुछ अपने तय समय पर ही होता है.

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...