पप्पू यादव बोले मुझे अपराधी बनाने में लालू का हाथ, नई पार्टी बनाने का एलान

२२ मई, २०१५ ८:४५ पूर्वाह्न

15 0

पप्पू यादव बोले मुझे अपराधी बनाने में लालू का हाथ, नई पार्टी बनाने का एलान

पप्पू ने कहा, ''मैं तो एक सीधा-साधा छात्र था. लालू का प्रशंसक था और लालू को अपना आदर्श मानता था, लेकिन लालू मेरे साथ बार-बार छल करते गए. मेरी भावनाओं से खेलते रहे. मुझे बिना अपराध किए ही कुर्सी का नाजायज फायदा उठाते हुए कुख्यात और बाहुबली बना दिया.'' पप्पू ने कहा, ''बात 1986- 87 की है. लालू विरोधी दल के नेता बनना चाहते थे. इस दौड़ में अनूप लाल यादव, मुंशी लाल और सूर्य नारायण भी शामिल थे. मैं अनूप लाल यादव के घर में ही रहता था, इसके बावजूद मैं लालू का समर्थन कर रहा था. लालू तब समाजवाद की बात कर रहे थे. डॉ रवि भी लालू को नेता विरोधी दल बनाना चाहते थे. इनके कहने पर ही मैंने नवल किशोर से बात कर लालू के लिए जमीन तैयार किया. लालू के नेता विरोधी दल बनने के अगले ही दिन पटना के सभी अखबारों में एक खबर प्रकाशित हुई "कांग्रेस नेता शिवचंद्र झा की हत्या करने के लिए पूर्णिया से एक कुख्यात अपराधी पप्पू यादव पटना पहुंचा."

पप्पू ने आगे बताया, मीसा से मैं जब 9 माह बाद निकला तो मैं लालू से मिलने उनके आवास पर गया. लालू से अपने लिए टिकट मांगा. लेकिन लालू ने हमें टिकट नहीं दिया, तो हम निर्दलीय चुनाव लड़े और जीत गए. चुनाव के बाद लालू अपनी सरकार बनाने के लिए जब प्रयास कर रहे थे तो फिर लालू ने हमारी मदद ली. मैंने अपने साथ चार अन्य निर्दलीय विधायकों का लालू को समर्थन दिलवाया. लालू मुख्यमंत्री बन गए, लेकिन फिर 1991 लोकसभा के चुनाव में मैंने लोकसभा का चुनाव लड़ने के लिए पार्टी से टिकट मांगा तो हमें नहीं दिया गया. मैंने हार नहीं मानी और पूर्णिया से निर्दलीय चुनाव लड़ा और जीत गया. लालू इससे खुश नहीं हुए.

पप्पू ने बताया, ''बेऊर से हमें तिहाड़ भेज दिया गया. यह सब लालू के कहने पर और उनके राजपाट के समय हुआ. फिर भी मैंने उनका साथ नहीं छोड़ा. लालू अपने अनुसार मुझे इस्तेमाल करते रहे. जब जरूरत हुआ हम मंडल के मसीहा हो गए और जब उनका काम पूरा हो गया मुझे बाहर निकाल दिया. पप्पू कहते हैं कि हम कब लालू की नजर में मसीहा और कब कुख्यात अपराधी बन गए हमें भी पता नहीं चला. खैर, अब दोनों के रास्ते अलग-अलग हो गए हैं. चुनाव मैदान में ही अब सब तय होगा.

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...