पुलिस परिवार ने दी प्रवीण सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि

१६ अप्रैल, २०१८ ९:५५ पूर्वाह्न

15 0

पुलिस परिवार ने दी प्रवीण सिंह को भावभीनी श्रद्धांजलि

Ranchi : आईपीएस अधिकारी प्रवीण सिंह को सोमवार को जैप-एक ग्राउंड में पुलिस परिवार ने भावभीनी श्रद्धांजलि दी. उन्हें अंतिम सलामी दी गयी. जिसके बाद नगर विकास मंत्री सीपी सिंह, मुख्य सचिव सुधीर त्रिपाठी, गृह सचिव एसकेजी रहाटे, डीजीपी डीके पांडेय समेत पुलिस के अन्य सीनियर अफसरों और पुलिसकर्मियों ने पार्थिव शरीर पर फूल चढ़ाकर श्रद्धांजलि दी. जिसके बाद उनके शव को एचइसी स्थित उनके आवास ले जाया गया. वहां पर अंतिम दर्शन के लिए बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे. पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोध कांत सहाय समेत सैंकड़ों लोगों ने उन्हें अंतिम विदाई दी. फिर अंतिम संस्कार के लिये प्रवीण सिंह के पार्थिव शरीर को हरमू स्थित मुक्तिधाम लाया गया.

प्रवीण सिंह वर्ष 1998 बैच के आईपीएस अधिकारी थे. रविवार की शाम करीब 5.30 बजे दिल्ली के मैक्स अस्पताल में उनका निधन हो गया. वह लंंबे समय से बीमार थे और पिछले एक माह से गंभीर स्थति में अस्पताल में भर्ती थे. उनकी मौत की खबर के बाद पुलिस विभाग में शोक की लहर है. जैप-एक ग्राउंड और उनके घर पर श्रद्धांजलि के दौरान कई पुलिसकर्मियों की आंखें नम थी.

उल्लेखनीय है कि प्रवीण कुमार पिछले कई महीनों से गंभीर बीमारियों से जूझ रहे थे. प्रवीण कुमार, रांची के एसएसपी और डीआईजी भी रह चुके हैं. मूल रूप से समस्तीपुर जिला निवासी आईपीएस प्रवीण सिंह, झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करने के लिए भी जाने जाते हैं. साथ ही समय रहते अपराधियों को पकड़ निकालने के लिए प्रसिद्ध रहे हैं. रांची में एसएसपी के पद पर काम करते हुए प्रवीण सिंह ने तीन मौकों पर रांची को दंगे की आग में जलने से बचाया. इन कारणों से उनके विरोधी भी उनकी तारीफ करते थे. निधन की सूचना पाकर प्रवीण सिंह के परिवार में मातम पसर गया. वे यूपी में भाजपा के कद्दावर नेता जगदंबिका पाल के दामाद थे.

यह भी पढ़ें: एयरहोस्टेस ने अपने घर की छत से कूदकर खुदकुशी की

स्रोत: newswing.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...