बंद हो सकते राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी के और भी कई प्रोजेक्ट

२२ मई, २०१५ ८:४५ पूर्वाह्न

70 0

बंद हो सकते राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी के और भी कई प्रोजेक्ट

नयी दिल्ली . कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र अमेठी में फूड पार्क रद्द होने के पर संसद में हुई बहस के बाद अब खबर आ रही है कि अमेठी में और भी कई प्रोजेक्ट्स हैं जो बंद हो सकते हैं. बताया जा रहा है इन प्रोजेक्ट्स में एम्स व रेलनीर प्रोजेक्ट्स जैसी बड़ी योजनाएं शामिल हैं.

इस योजना के तहत प्लांट से प्रतिदिन 72 हजार बोतलबंद पानी का उत्पादन करने की योजना है. 8 करोड़ की लागत वाले इस प्रोजेक्ट के पूरे होने के बाद लखनऊ, कानपुर, इलाहाबाद, वाराणसी, गोरखपुर, फैजाबाद, प्रतापगढ़, सुलतानपुर, रायबरेली स्टेशनों तथा ट्रेनों के पेंट्रीकारों में रेलनीर की आपूर्ति होनी है. लेकिन अब इस पर प्रश्नचिन्ह लग गया है. इसके अलावा खबर है कि सरकार अमेठी में चल रही और भी कई प्रोजेक्ट बंद करने की तैयारी में है. इनमें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के विस्तारण का प्रोजेक्ट भी शामिल है.

इससे पहले गुरुवार को संसद में बहस के दौरान अमेठी में फूड पार्क को बंद किए जाने का मुद्दा उठाते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर बदले की राजनीति करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, चुनाव के दौरान पीएम अमेठी आए थे. उन्होंने वहां के किसानों से बदले की राजनीति न करने का वादा किया था, लेकिन वह यही कर रहे हैं. मेरी गुजारिश है कि इस फूड पार्क को कैंसल मत कीजिए.

राहुल ने कहा कि उनसे एक किसान ने सवाल पूछा था कि हम आलू दो रुपए किलो बेचते हैं और चिप्स का पैकेट जिसमें एक आलू होता है वह 10 रुपए में खरीदा जाता है. यह क्या जादू हो रहा है?राहुल के आरोपों पर सरकार की तरफ से गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने जवाब दिया. उन्होंने कहा, राहुल गांधी ने कहा कि दो रुपए किलो के आलू के चिप्स का पैकेट 10 रुपए में बिकता है. वह कम जानते हैं. वहीं केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल सहानुभूति की राजनीति कर रहे हैं.

लोकसभा में जब गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने आश्वासन दिया कि सरकार इस बात की जांच करेगी कि अमेठी में फूड प्रोसेसिंग प्लांट की योजना को बंद क्यों किया जा रहा है , तो अमेठी से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बेंच थपथपा कर इसका स्वागत किया. कुछ मिनट पहले ही राजनाथ सिंह ने राहुल गांधी पर छींटाकशी कर रहे अपनी पार्टी के सांसदों को चुप कराया था.

राहुल गांधी ने लोकसभा में इस बात पर आपत्ति उठाई थी कि उनके संसदीय क्षेत्र अमेठी में योजना को बंद किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार बदले की राजनीति कर रही है. इसके जवाब में राजनाथ ने कहा, बदले की राजनीति का प्रश्न ही नहीं उठता. मैं भी एक किसान परिवार से आता हूं. जहां तक मेरी सूचना है, कंपनी ने ही इनकार कर दिया है. सिंह ने वादा किया कि वह इस बारे में निजी तौर पर राहुल गांधी को सूचित करेंगे. राजनाथ ने कहा कि हम देश की तरक्की करना चाहते हैं और सत्ताधारी पार्टी अकेले,ऐसा नहीं कर सकती. राजनाथ के भाषण के बाद राहुल ने अपनी मां की ओर देखा तो सोनिया गांधी ने उन्हें बधाई दी.

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...