मुंबई: जहरीली शराब त्रासदी में मरने वालों की संख्या 100 हुई

२२ जून, २०१५ १:३१ अपराह्न

3 0

मुंबई: मुंबई में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या सोमवार को बढ़कर 100 हो गई. पुलिस ने बताया कि जहरीली शराब की यह त्रासदी महाराष्ट्र में पिछले 11 वर्षो की सबसे भयानक घटना है. पुलिस उपायुक्त धनंजय कुलकर्णी ने कहा, "जहरीली शराब पीने की घटना में अबतक 100 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 48 अन्य लोगों का विभिन्न अस्पतालों में उपचार चल रहा है."

पीड़ितों ने 17 जून की रात मालवणी में एक बार से घटिया किस्म की शराब पी थी. इस मामले की जांच कर रही अपराध शाखा ने मुंबई और इसके आसपास के क्षेत्रों में अवैध शराब के धंधे में लिप्त कम से कम चार लोगों की तलाश में जुटी हुई है. पुलिस ने अबतक इस घटना के संबंध में लगभग 20 लोगों को गिरफ्तार किया है.

अवैध शराब पीने के मामले में मृतकों की तेजी से बढ़ती संख्या से चिंतित महाराष्ट्र सरकार ने शनिवार को आबकारी विभाग के चार अधिकारियों और शुक्रवार को पुलिस के आठ जवानों को निलंबित कर दिया था. अधिकारी ने बताया कि राज्य सरकार भविष्य में इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए देसी शराब की बिक्री, भंडारण और ढुलाई को लेकर कानून में संशोधन करने की योजना बना रही है.

पीड़ितों में अधिकांश लक्ष्मी नगर झुग्गी बस्ती के थे. इन सभी ने बुधवार रात राठोड़ी गांव के एक बार में घटिया किस्म की देसी शराब पी थी. दिसंबर 2004 में मुंबई में इस तरह की दो अलग-अलग घटनाओं में 87 लोगों की मौत हो गई थी.

विपक्षी कांग्रेस ने मलवानी में जहरीली शराब कांड को लेकर महाराष्ट्र के आबकारी मंत्री एकनाथ खडसे का इस्तीफा मांगा है. जहरीली शराब पीने से अभी तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता विखे पाटिल ने कहा कि खडसे को नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए और मंत्रालय छोड़ देना चाहिए.

पीड़ितों के परिजन से मुलाकात करने के बाद विखे पाटिल ने कहा कि मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने अभी तक पीड़ित परिवारों से मुलाकात नहीं की है और शराब कांड में करीब सौ लोगों की जान जाने पर यह राज्य सरकार की ‘‘उदासीनता’’ को दर्शाता है.

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया, ‘‘नगर निगम की तरफ से संचालित शताब्दी अस्पताल की लापरवाही के कारण लोगों की जान गई.’’ उन्होंने कहा, ‘‘अधिकारियों और पुलिस के खिलाफ कार्रवाई ही काफी नहीं है.’’ उन्होंने मांग की कि इन मौतों के लिए अस्पताल के अधिकारियों और स्वास्थ्य अधिकारियों पर मामला दर्ज किया जाए. मुंबई शराब कांड में मरने वालों की संख्या अभी तक 100 हो चुकी है.

स्रोत: abpnews.abplive.in

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...