राहुल गांधी ने पूछा- मैं 15 दिनों से एक्टिव हूं, तो क्या हम बिहार जीत जाएंगे?

२२ मई, २०१५ ८:४५ पूर्वाह्न

56 0

राहुल गांधी ने पूछा- मैं 15 दिनों से एक्टिव हूं, तो क्या हम बिहार जीत जाएंगे?

बताया जा रहा है कि बैठक के दौरान राहुल ने कहा, ''मेरे करने से कुछ नहीं होगा. पूरी पार्टी को आगे आना होगा.'' कांग्रेस उपाध्‍यक्ष ने उदाहरण के तौर पर कहा कि छत्तीसगढ़ में पीसीसी (प्रदेश कांग्रेस कमेटी) काफी अच्छा काम कर रही और वहां की सरकार दवाब में है. जहां भी कांग्रेसी काम करेंगे, वहां कांग्रेस दोबारा खड़ी होगी.

सूत्रों की मानें तो इस बैठक में सचिवों ने पार्टी के महासचिवों, प्रदेश अध्यक्षों और वरिष्ठ नेताओं की शिकायत की. कई सचिवों ने राहुल गांधी से कहा कि महासचिव तानाशाह की तरह व्यवहार करते हैं और उनकी बातों को नहीं सुनते. बैठक में सभी सचिवों ने खुलकर अपनी बातें रखीं. राहुल ने सभी लोगों की बातों को काफी गंभीरता से सुना और समस्याओं को हल करने का आश्वासन दिया. राहुल गांधी ने कहा कि जो लोग ईमानदारी से काम करते हैं, उन्हें आगे लाया जाएगा. सचिवों ने पदाधिकारियों की नियुक्ति और टिकट बंटवारे में गड़बड़ी का भी मामला उठाया.

सचिवों की बैठक में राहुल ने कहा कि कई लोग राजघराने और बडी फैमिली से आते हैं और उनके व्यवहार में अहंकार झलकता है. आप लोग जब भी बात करें तो मन में अहंकार न रखें. लोग तभी आपसे जुड़ेंगे, जब आप अपना व्यवहार सही रखेंगे. सचिवों को मीटिंग में साफ निर्देश दिए गए थे कि बैठक की बात मीडिया में नहीं जानी चाहिए.

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...