विश्व भ्रमण पर निकला सोलर इंपल्स पहुंचा चीन

२२ मई, २०१५ ८:४५ पूर्वाह्न

8 0

विश्व भ्रमण पर निकला सोलर इंपल्स पहुंचा चीन

विश्व भ्रमण के लिए निकला विश्व का सबसे बड़ा सौर उर्जा से चलने वाला विमान सोलर इंपल्स टू अपनी ऐतिहासिक विश्व यात्रा के पड़ाव के तौर पर आज चीन के दक्षिण पश्चिमी शहर चोंगकिंग पहुंचा. यह इसका पांचवां पड़ाव है. चीन में आने के बाद इसने अपनी वेबसाइट पर एक बयान में कहा, यह एक विलक्षण अवसर है कि हम हमारा संदेश म्यांमा और चीन में दे सकें कि भविष्य स्वच्छ है. गौरतलब है कि चीन विश्व का सबसे बड़ा कार्बन उत्सर्जक देश है.

स्विट्रलैंड के पायलट बर्टेंड पिकार्ड और आंद्रे बोर्शबर्ग इस विमान को बिना ईंधन के विश्व भ्रमण करा रहे हैं. दक्षिण चीन में पर्वतों के उपर से गुजरने पर पायलटों को ऑक्सीजन मास्क पहनने पड़े जहां पर तापमान शून्य से 20 डिग्री नीचे तक पहुंच जाता है. यह विमान 1,459 किलोमीटर लंबे मार्ग पर उड़कर यहां पहुंचा है जिसमें रास्ते में यह 28,000 फुट तक की उंचाई पर भी गया.

सोलर इंपल्स सौर उर्जा पर दिन और रात दोनों के वक्त उड़ान भरने में सक्षम है. इसके पंखों पर लगे 17,000 से ज्यादा सोलर सेल इसके उड़ने के लिए उर्जा देते हैं. अपने विश्व भ्रमण की शुरूआत इसने नौ मार्च को संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबू धाबी से की थी. एक व्यक्ति के बैठने की क्षमता वाले इस विमान को कार्बन फाइबर से बनाया गया है. इसके पंखों का फैलाव 72 मीटर है जो बोइंग 747 के पंखों से बड़े हैं. इसका वजन मात्र 2,300 किलोग्राम है. चोंगकिंग में अपने संक्षिप्त पड़ाव के बाद यह हवाई की ओर उड़ान भरेगा.

स्रोत: palpalindia.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...