95 फीसद वालों को भी नहीं मिला पसंदीदा कालेज

२६ जून, २०१५ १२:२६ पूर्वाह्न

1 0

95 फीसद वालों को भी नहीं मिला पसंदीदा कालेज

दिल्ली विश्वविद्यालय के सेशन 2015-16 के अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में दाखिला प्रक्रिया की शुरुआत पहली कट ऑफ आने के साथ ही बृहस्पतिवार से शुरू हो गई.

कॉलेजों में दाखिला लेने को कटऑफ में आने वाले दिनभर दाखिला प्रक्रिया पूरी करने में जुटे रहे. पहले दिन मनचाहे कॉलेज में दाखिला लेने पहुंचे हाई कटऑफ वाले विद्यार्थियों को निराशा हाथ लगी. वह दाखिले की आस में कॉलेज तो पहुंच गए लेकिन जब कटऑफ देखा तो चेहरा उतर गया.

यह स्थिति 95 व 96 फीसद पर्सेटेज वाले विद्यार्थियों की रही. कटऑफ में एक से दो फीसद का अंतर था, लिहाजा विद्यार्थियों ने कहा कि वह दूसरी कटऑफ में दाखिला लेंगे. बृहस्पतिवार को उन विद्यार्थियों के चेहरे खिले दिखे जिनका कटऑफ में मार्क्‍स आ गए और उन्होंने पहले ही दिन दाखिला ले लिया. दाखिला प्रक्रिया के पहले दिन कैम्पस में भारी जाम रहा. जिससे विद्यार्थी व अभिभावकों को दो-चार होना पड़ा. कैम्पस में पहले दिन विद्यार्थियों के लिए कॉलेज के अलावा छात्र संगठनों की ओर से भी हेल्प डेस्क लगाए गए थे.

डीयू में दाखिला प्रक्रिया के पहले दिन हंसराज कॉलेज में पहुंची छात्रा अदिति शर्मा ने बताया कि उनके बेस्ट फोर में 96 फीसद अंक है, लेकिन कॉलेज में ईकोनॉमिक्स ऑनर्स की कटऑफ 98.5 फीसद गई है, लिहाजा उन्हें अभी दूसरी कटआफॅ का इंतजार करना होगा. इसी तरह छात्रा ईरानी का भी बेस्ट फोर में 95.5 फीसद अंक है. कॉलेज ने बीकॉम ऑनर्स 98 फीसद कटऑफ जारी की है इसलिए ईरानी को भी दाखिला नहीं मिल सका. उन्होंने कहा कि यदि बीकॉम ऑनर्स में दाखिला नहीं मिला तो वह हिन्दू कॉलेज या लेडी श्रीराम कॉलेज में बीए कोर्स में दाखिला ले लेंगी. छात्रा विदूषी को भी पहले दिन दाखिला नहीं मिल पाया.

विदूषी का भी बेस्ट फोर में 93.75 फीसद अंक है, लेकिन हंसराज कॉलेज में बीएससी कम्प्यूटर साइंस में 97.75 फीसद कट ऑफ आई है. विदूषी का कहना है कि वह अभी दूसरी कटऑफ का इंतजार करेंगी.

इसी प्रकार छात्रा आयुषी का भी बेस्ट फोर में 91 फीसद अंक है, लेकिन बीएससी कम्प्यूटर साइंस में दाखिला नहीं मिल पा रहा. फिलहाल डीयू में पहली कट ऑफ के तहत दाखिला प्रक्रिया शनिवार तक चलेगी. डीयू में दाखिला पहले दिन कैम्पस की सड़कों पर जाम लगा रहा और विद्यार्थी व अभिभावक इससे जूझते दिखे. हर किसी को कॉलेज पहुंचने की जल्दी थी. विद्यार्थी अपने हाथों में डॉक्यूमेंट्स लेकर अपने-अपने अभिभावकों व दोस्तों के साथ कॉलेजों में दाखिला लेने पहुंचे थे. कॉलेजों हिन्दू कॉलेज में दाखिले को लेकर विद्यार्थियों को सभी तरह की जानकारियों के बड़े-बड़े बोर्ड लगाए गए थे. जिसमें दाखिले को लेकर पूरी जानकारी दी गई थी.

नॉर्थ कैम्पस के रामजस कॉलेज में दाखिले को लेकर काफी व्यवस्था की गई थी. कॉलेजों के क्लासरुमों के बाहर जहां-जहां दाखिले चल रहे थे, वहां विद्यार्थियों के बैठने के लिए बेंच लगाए गए थे. इतना ही नहीं बारिश से होने वाली उमस को दूर करने के लिए पंखे व कूलर भी लगाए गए थे. इसी तरह किरोड़ीमल कॉलेज में भी क्लासरूमों में दाखिले की व्यवस्था की गई थी. कॉलेज गेट से लेकर अंदर तक विद्यार्थियों की सहायता के लिए हेल्प डेस्क लगाए गए थे. हंसराज कॉलेज में भी विद्यार्थियों के लिए हेल्प डेस्क लगाए गए थे.

स्रोत: samaylive.com

श्रेणी पृष्ठ पर

Loading...