NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

Movie Review: रामायण, महाभारत से कम नहीं है ‘बाहुबली 2’

२८ अप्रैल, २०१७ १२:४० अपराह्न
27 0
Movie Review: रामायण, महाभारत से कम नहीं है ‘बाहुबली 2’

इस फिल्म को अगर काफी हद तक रामायण की महाकथा से जोड़ कर देखा जा सकता है, देवसेना और अमरेन्द्र को राम और सीता की तरह ही उनकी सौतेली माँ वनवास भेज देती हैं... फिर देवसेना को भाल्लाल , रावण बन कर अपनी लंका में कैद कर लेता है और देवसेना इंतज़ार करती है रावण के अंत का और लंका के दहन का, लंका पर महेंद्र विजय प्राप्त करता है और सीता को आज़ाद करता है... इस बार सीता को अग्नि परीक्षा नहीं देनी पड़ती...बस इतना फर्क है...

कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा, ये मुद्दे की बात नहीं है...वो बस कहानी का एक हिस्सा है...कटप्पा इस फिल्म का हनुमान भी है और कृष्ण भी...आप जैसे उस किरदार को देखेंगे वो किरदार आपको वैसा ही दिखाई देगा.

दस कारण जिसकी वजह से ये फिल्म इस बीते कई सालों की अब तक की सबसे शानदार फिल्मों में से एक है.

फिल्म की कहानी बेहद शानदार है, और यही सबसे बड़ा कारण है की फिल्म आपको सीट से बाढ़ कर रखती है, एक सेकंड भी ऐसा नहीं आता की आप सीट से उठ कर पॉपकॉर्न लेने जा पाएं.

कहानी की तरह इस फिल्म के संवाद भी उतने ही अच्छे हैं, खासकर फिल्म के पहले हिस्से में कटप्पा के संवादों की कॉमिक टाइमिंग आपको ज़रूर पसंद आएगी.

यह भी देखना: Movie Review: दमदार किरदारों के आसपास घूमती कहानी है 'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का'

ये फिल्म इतनी भव्य है, की एक पल के लिए भी आपकी नज़र इधर उधर नहीं भटकती, एक एक फ्रेम आपको मंत्रमुग्ध कर देता है, उसका बहुत बड़ा कारण हैं इसके विराट सेट्स.

फिल्म का संगीत काफी अच्छा है. और उससे भी ज्यादा अच्छी है इसकी कोरियोग्राफी.

शिवागामी के किरदार में रम्या और देवसेना के किरदार में में अनुष्का ने इतना ज़बरदस्त अभिनय किया है की अब आगे उनके लिए इन किरदारों से बेहतर कुछ कर पाना काफी मुश्किल होने वाला है. राणा और प्रभास तो बढ़िया हैं ही पर इस फिल्म से अगर कोई किरदार अमर हो जाता है तो वो हैं कटप्पा का किरदार अदा करने वाले सत्यराज, उनको स्टैंडिंग ओवेशन.

फिल्म का कैमरा वर्क इंटरनेशनल स्टैण्डर्ड का है और इस तरह के कैमरावर्क का मुकाबला कर पाना अच्छे अच्छे कैमरामेन के लिए मुश्किल काम है.

ये फुल पैसा वसूल फिल्म है. अगर टिकेट महंगे हैं तो भी टिकेट का खर्च आपको खलेगा हैं. पॉपकॉर्न का खर्चा बाख सकता है क्योंकि जाकर लाने का मौका आपको फिल्म के बीच में कम ही मिलेगा.

इन सब के अलावा आपको फाइनली जवाब भी मिल जाएगा जो आप दो साल से ढूंढ रहे हैं...कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा?

यह भी देखना: 'जब हैरी मेट सेजल' ट्रेलर: अनुष्का में नजर आ रही है नए जमाने की सिमरन

स्रोत: inextlive.jagran.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0