NewsHub के साथ गर्मागर्म विषयों पर ताज़ातरीन ख़बरों के अपडेट प्राप्त करें। अभी इन्स्टाल करें।

ODOP फोर्मुले पर काम कर रही है सरकार: मोदी

३० दिसंबर, २०१८ ९:५२ पूर्वाह्न
33 0

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को यहां कहा कि केंद्र और राज्य सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए पूरे समय काम कर रही है कि लागू की जा रही सभी नई परियोजनाएं बिचौलियों को परे रखकर जीवन को सरल बनाने और व्यापार को आसान बनाने पर केंद्रित हों. अपने संसदीय क्षेत्र में 'वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोजेक्ट'( ODOP ) पर एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि ओडीओपी मेक इन इंडिया का एक विस्तार है, जिसके अंतर्गत 'विश्व के मानचित्र में उत्तर प्रदेश को मजबूती से रेखांकित करने की संभावना' है.

कांग्रेस शासन पर कटाक्ष करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार ने सरकारी तंत्र को और पारदर्शी करने के लिए इसमें जरूरी बदलाव कर बिचौलियों को दूर रखने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने इसके साथ ही केंद्रीय दूरसंचार मंत्रालय की डिजिटल पेंशन परियोजना को शुरू करने के लिए सराहना की और कहा कि इससे पेंशनधारियों को तत्काल फायदा मिलेगा.

प्रधानमंत्री ने कहा कि लोग अपने पेंशन के बारे में अपने मोबाइल फोन पर देख सकते हैं और उन्हें अब पेंशन संबंधी समस्याओं के लिए कार्यालयों के चक्कर काटने की जरूरत नहीं है. मोदी ने कहा कि पिछले दो वर्षो में इंटरनेट कनेक्टिविटी बढ़कर 65 प्रतिशत तक हो गई है. भारत मे अब 50 करोड़ सक्रिय इंटरनेट उपयोगकर्ता हैं. यह खास है, क्योंकि गांवों में भी इंटरनेट की वृद्धि शहरों जितनी ही हो रही है.

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार के कार्यकाल में 1.25 लाख पंचायत ब्राडबैंड से कनेक्ट हुए हैं, जिसमें से उत्तरप्रदेश के 29,000 गांव शामिल हैं. उन्होंने कहा कि सरकार के ई-मार्केट स्पेस(जेईएम) में छोटे से छोटा व्यापारी भी अपने उत्पादों को बेच सकता है. यह सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई) क्षेत्र के लिए बेहतरीन मंच है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक करोड़ रुपये तक के ऑनलाइन ऋण को केवल 59 मिनट के अंदर बिना किसी लाल फीताशाही और शोषण के वितरित किया जा रहा है. उन्होंने कहा, जैसा कि वैज्ञानिकों द्वारा जांचा गया है, गंगा नदी के पानी की गुणवत्ता में लगातार सुधार हो रहा है. लंबे समय से इसके लिए परियोजना बनाई गई, फिर भी गंगा प्रदूषित रही, लेकिन अब नहीं रहेगी. जब नियत साफ है तो गंगा भी साफ होगी.

वाराणसी और आस-पास के क्षेत्रों के उद्योगों के बारे में मोदी ने कहा कि क्षेत्र में 1.5 लाख बुनकर और 70,000 विद्युत करघे(पॉवर लूम्स) हैं और उन्हें धनराशि देने से लेकर उनके उत्पाद को बाजार में सुविधा प्रदान करने तक, राज्य और केंद्र सरकार इन बुनकरों के लिए काम कर रही है. प्रधानमंत्री ने यहां 14 आधारभूत परियोजनाओं की आधारशिला रखी और 12 परियोजनाओं का उद्घाटन किया. इससे पहले मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय चावल अनुसंधान संस्थान का उद्घाटन किया और वैज्ञानिकों से बातचीत की.

स्रोत: palpalindia.com

सामाजिक नेटवर्क में शेयर:

टिप्पणियां - 0